• Last Modified: शुक्रवार 12 जुलाई 2024.

कॉरपोरेट कार्यालय

रेलवे

राजमार्ग

इमारत

arrow
arrow
  • इंजीनियरिंग उत्कृष्टता के 40 साल
  • टर्नकी बुनियादी ढांचे के निर्माण कंपनी
  • 20 + देशों में उपस्थिति

अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक का सन्देश


श्री आशीष बंसल
अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक

समाचार

इरकॉन को "बांग्‍लादेश में खलना-मोंगला पोत रेल लाइन के इम्‍बार्कमेंट, रेलपथ, सभी सिविल कार्य, प्रमुख और गौण पुलों (रूपशा को छोड़कर) तथा पुलिया के निर्माण और ईएमपी के क्रियान्‍वयन का कार्य" प्रदान किया गया है - पैकेज सं. डब्‍ल्‍यूडीआई, 9713 मिलियन रूपए।

मित्‍सुई और टाटा प्रोजेक्‍ट्स लिमिटेड के साथ संयुक्‍त उद्यम में इरकॉन को "पश्चिमी समर्पित मालभाड़ा गलियारे के सिविल निर्माण और रेलपथ का कार्य" प्रदान किया गया है। संविदा पैकेज सीटीपी-11 जेएनपीटी- वैतरणी खंड, 17163 मिलियन रूपए।

इरकॉन को एनएमडीसी द्वारा "जगदलपुर के समीप नगरनार, छत्‍तीसगढ़ में प्रस्‍तावित 3.0 एकीकृत इस्‍पात संयंत्र के लिए सिग्‍नलिंग और दूरसंचार, यांत्रिकी और नए ब्‍लॉक स्‍टेशन व संबद्ध कार्यों सहित सिविल और रेलवे सहायक कार्य" प्रदान किए गए हैं। पैकेज सं. I, II तथा IV - 4464 मिलियन रूपए।

इरकॉन ने छत्‍तीसगढ़ राज्‍य में रेल गलियारे के विकास के लिए छत्‍तीसगढ़ सरकार और दक्षिण पूर्वी कोलफील्‍ड लिमिटेड (एसईसीएल) के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्‍ताक्षर किए हैं।

 

इरकॉन को "दिल्‍ली एमआरटीएस परियोजना चरण-।।। के लिए डीएमआरसी के सीई-6, लॉट-1 के अंतर्गत मौजूदा रिसीविंग उप-स्‍टेशन के लिए ग्रिड उपस्‍टेशन से उच्‍च वोल्‍टता तारों और संवर्धन कार्यों सहित रिसीविंग-सह-कर्षण तथा अनुषंगी मुख्‍य उपस्‍टेशन के अभिकल्‍प, आपूर्ति, संस्‍थापन, परीक्षण और कमिशनिंग का कार्य" प्रदान किया गया है - 2349.50 मिलियन रूपए।

इरकॉन को दिल्‍ली एमआरटीसी परियोजना के चरण-।।। के मुकुंदपुर डीपो में गिट्टी सहित/गिट्टी रहित रेलपथों सहित एलिवेटेड और भूमिगत खंडों में मुकुंदपुर - लाजपतनगर (छोड़कर) लाइन-7 के खंडों के भाग-1 में रेलपथ कार्यों के लिए संविदा सीटी-1 प्रदान किया गया है।

इरकॉन को "एप्रोच रेल सहित दूसरे भौरब पुल के निर्माण (लॉट-क) " का कार्य प्रदान किया गया है।

इरकॉन को जम्‍मू और कश्‍मीर राज्‍य में जम्‍मू में ऊर्जा आपूर्ति संवितरण कार्य (आर-एपीडीआरपी) के लिए तीन परियोजनाएं प्रदान की गई हैं (क्‍लस्‍टर-।: 2629.40 मिलियन रूपए, क्‍लस्‍टर-।।: 3332.60 मिलियन रूपए तथा क्‍लस्‍टर-IV: 853.26 मिलियन रूपए)। 

इरकॉन को राजस्‍थान राज्‍य में बीओटी (टोल) आधार पर राष्‍ट्रीय राजमार्ग-15 के किमी 4.200 से किमी 55.250 तक चार लेन का बनाने और किमी 55.250 से किमी 163.500 तक पेव्‍ड शोल्‍डरसहित दो लेन का बनाने के लिए मौजूदा बीकानेर-‍फलौदी खंड को चौड़ा करने व इसके सुदृढ़ीकरण का कार्य सौंपा गया है। 

इरकॉन को बीओटी (टोल) आधार पर मध्‍यप्रदेश राज्‍य में किमी 236.00 से किमी 332.100 (पैकेज-।) तक शिवपुरी से गूना को चार लेन का बनाने का कार्य सौंपा गया है।  

मित्‍सुई और टाटा प्रोजेक्‍ट्स लिमिटेड के साथ संयुक्‍त उद्यम में इरकॉन को "डीएफसीसीआईएल पैकेज सीटीपी-12 के पश्चिमी गलियारे के वैतरणी - सचिन खंड के लिए सिविल निर्माण और रेलपथ का कार्य" प्रदान किया गया है - 21706.50 मिलियन रूपए

मित्‍सुई और टाटा प्रोजेक्‍ट्स लिमिटेड के साथ संयुक्‍त उद्यम में इरकॉन को "डीएफसीसीआईएल पैकेज सीटीपी-13 के पश्चिमी गलियारे के सचिन-वडोदरा खंड के लिए सिविल निर्माण और रेलपथ का कार्य" प्रदान किया गया है - 21578.00 मिलियन रूपए लाख






हमारा लक्ष्‍य

(i)भारत तथा विदेशों में परिवर्तनशील आर्थिक परिदृश्य के अवसंरचनात्मक विकास के निर्माण की आवश्यकताआें को पूरा करने के लिए कम्पनी को प्रभावपूर्ण रूप से तैयार करना।

(ii)सर्वोत्तम अन्तर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप उच्च गुणवत्ता वाले उत्पाद व सेवाआें को इंजीनियरिंग तथा बेहतर कार्पोरेट शासन व ग्राहक संतुष्टि की दृष्टि से उपलब्ध कराकर विश्वव्यापी पहचान बनाना।

हमारा विजन

आधार संरचना के क्षेत्र में निर्माण गतिविधियों और सेवाओं के सम्पूर्ण आयाम को शामिल करते हुए इस क्षेत्र की सर्वोत्तम कम्पनियों की तुलना में विशिष्टता प्राप्त निर्माण संगठन के रूप में देश तथा विदेशों में अपनी पहचान बनाना।

 

Shri Brijesh Kumar Gupta holds a Bachelor Degree in Civil Engineer (B.E. - Civil) from Madhav Institute of Technology and Science (MITS), Gwalior and Post Graduate Degree (M.Tech) in Applied Mechanics from IIT, Delhi.

He belongs to Indian Railway Services of Engineers (IRSE) of 1985 batch. He is also Member of Indian Institute Permanent Way Engineers (IIPWE), New Delhi. He has been trained in Strategic Management Programme in Carnegie Mellon University, Pittsburg, USA in October 2018; and Leadership Programme in SDA Bocconi Business School, Milan, Italy in July, 2017.

He is presently working as Additional Member (Civil Engineer), Railway Board. He has over 37 years of enriched and varied experience in Railways, especially in execution and management of Railway Projects. He held various important and challenging posts in Railways such as Chief Administrative Officer (Const.), [North Western Railway, Jaipur & East Coast Railway, Bhubaneswar], Chief Safety Officer [West Central Railway, Jabalpur], Divisional Railway Manager [Central Railway, Nagpur].

He is recipient of prestigious award of Railway Minister’s Civil Engineering Construction shield consecutively for 2020-21 & 2021-22 while working as CAO/C/North Western Railway, Jaipur and Zonal Safety Shield in 2013-14 and 2014-15 while working as Chief Safety Officer, West Central Railway, Jabalpur. During his two years of tenure as Divisional Railway Manager, Nagpur Division was adjudged as best division in Central Railway in both the years. Further, he is awarded at Ministry of Railways level as a member of team for Excellent work in completing Gauge conversion of Jodhpur – Jaisalmer (300 Kms.) section in record time in 1994-95 while working as Dy. Chief Engineer/Construction/Jodhpur.

-