• Last Modified: सोमवार 22 जुलाई 2024.

 

श्री अजय कुमार चौहान को भारत सरकार द्वारा इरकॉन के बोर्ड में एक स्वतंत्र [अंशकालिक (गैर-सरकारी)] निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया था। श्री चौहान भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) 1984 बैच के हैं और उन्होंने विभाग के कर प्रशासन, जांच, अर्ध-न्यायिक, लेखा परीक्षा, मुकदमेबाजी और अनुसंधान प्रभागों में वरिष्ठ पदों पर कार्य किया है। वे भारत के प्रतिस्पर्धा आयोग, कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय के पहले महानिदेशक के रूप में भी प्रतिनियुक्ति पर थे, जहां उनके कार्यकाल के दौरान कार्टेल, बोली में हेराफेरी और प्रभुत्व के दुरुपयोग आदि के कुछ बड़े मामलों की जांच की गई थी।

श्री चौहान के पास ग्रेजुएट स्कूल ऑफ बिजनेस, सिडनी विश्वविद्यालय, से एमबीए और दिल्ली विश्वविद्यालय से एम.फिल (संगठन व्यवहार) और एमए (औद्योगिक मनोविज्ञान) की, अलीगढ़ विश्वविद्यालय से बीए (ऑनर्स) की डिग्री है। इसके अलावा उनके पास सिरैक्यूज़ विश्वविद्यालय, ओईसीडी और आईआईएम से उन्नत प्रबंधन, प्रतिस्पर्धा कानूनों और प्रथाओं और कॉर्पोरेट प्रशासन पर कई डिप्लोमा / प्रमाण पत्र हैं।

वह एशियाई विकास बैंक, मनीला द्वारा सम्मानित प्रतिष्ठित मेरिट छात्रवृत्ति और मध्य प्रदेश के वाणिज्य और व्यावसायिक संस्थानों द्वारा प्रदान किए गए "वर्ष 2017 के नवप्रवर्तक" के प्राप्तकर्ता हैं। वह कई समितियों के अध्यक्ष / सदस्य रहे हैं: प्रतिस्पर्धा कानून संशोधन समिति, राष्ट्रीय फेसलेस मूल्यांकन योजना, क्षेत्रीय आर्थिक खुफिया परिषद और बिजनेस प्रोसेस री-इंजीनियरिंग परियोजना।

-