वृहत सेवाएं टोल, वार्षिक वृत्ति तथा मिश्रित वार्षिक वृत्ति आधार पर डीबीएफओटी पैटर्न के अंतर्गत राजमार्ग में तथा राज्‍यों और अन्‍य स्‍टेकधारकों के साथ संयुक्‍त उद्यम मॉडल के आधार पर रेलवे क्षेत्र  में सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) परियोजनाओं की श्रेणी में उपलब्‍ध कराई गई हैं। ऐसी परियोजनाओं के निष्‍पदान और समय पर समापन के लिए, इरकॉन अपनी कंपनी की वित्‍तीय क्षमता की मदद से अनुभवी अभिकल्‍प इंजीनियरों, तकनीकी कार्मिकों और कुशल परियोजना प्रबंधन कार्मिकों के दल पर आश्रित है।

सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) परियोजनाओं के अंतर्गत उपलब्‍ध कराई गई सेवाओं में शामिल हैं:
  • विस्‍तृत इंजीनियरिंग अध्‍ययन।
  • वित्‍तीय मॉडलिंग।
  • सामग्री का प्रापण।
  • निर्माण/फ्रैब्रिकेशन आरखणों सहित विस्‍तृत अभिकल्‍प और प्रूफ जांच।
  • परियोजना प्रबंधन कड़े गुणवत्‍ता और परियोजना लक्ष्‍यों का अनुपालन करता है।
  • प्रचालन और अनुरक्षण।
महत्‍वपूर्ण परियोजनाएं
  • छत्‍तीसगढ़ राज्‍य में खरसिया से धरमजयगढ़ के बीच पूर्वी गलियारे के गलियारा-। का निर्माण।
  • छत्‍तीसगढ़ राज्‍य में गेवरा रोड से पेंड्रा रोड के बीच पूर्वी गलियारे के गलियारा-।।। का निर्माण।
  • राजस्‍थान राज्‍य में बीओटी (टोल) आधार पर राष्‍ट्रीय राजमार्ग-15 के किमी 4.200 से किमी 55.250 तक चार लेन का बनाने तथा किमी 55.250 से किमी 163.500 तक पेव्‍ड शोल्‍डर सहित दो लेन का बनाने के लिए मौजूदा बीकानेर फलौदा खंड को चौड़ा करना व उसका सुदृढ़ीकरण।
  • एनएचपीडी के चरण-IV के अंतर्गत डीबीएफओटी पैटर्न पर बीओटी (टोल) आधार पर निष्‍पादित किए जाने के लिए मध्‍य प्रदेश राज्‍य में किमी 236.00 से किमी 332.100 (पैकेज-।) तक शिवपुरी से गूना तक चार लेन का बनाना।
पूर्ण परियोजना
  • बीओटी आधार पर राष्‍ट्रीय राजमार्ग परियोजना के पिंपलगांव - धुले खंड को चार लेन का बनाना।
-