पूर्ण परियोजनाओं की प्रमुख विशेषताएं

निम्‍नलिखित खंडों में 220 के.वी तक की वोल्‍टता श्रेणी के 27 कर्षण उप-स्‍टेशनों सहित 4000 टीकेएम से अधिक के 25 के.वी. एसी पर भारतीय रेल के लिए रेल विद्युतीकरण परियोजना।

दिल्‍ली रिंग रेल (ब्‍यौरा देखें)

दिल्‍ली - मथुरा खंड (ब्‍यौरा देखें)

मथुरा - गंगापुर शहर (ब्‍यौरा देखें)

नागपुर -बल्‍लारशाह

नागपुर - गोंदिया, गोंदिया - पनियाजोब (ब्‍यौरा देखें)

 बयाना - आगरा - टुंडला (ब्‍यौरा देखें)

तुगलकाबाद तथा झांसी यार्ड

झांसी - कोटरा (ब्‍यौरा देखें)

पश्चिम रेलवे पर क्रिभको साइडिंग

बीना - कटनी - अनुपुर (2x25 के.वी) (ब्‍यौरा देखें)

दिल्‍ली - अंबाला (ब्‍यौरा देखें)

एनटीपीसी की दादरी पावर हाउस साइडिंग

नागपुर पावर हाउस साइडिंग

पानीपत रिफाइनरी साइडिंग

पानीपत रिफाइनरी साइडिंग

कटनी - अनुपुर - बिलासपुर (ग्रे.75 व 76 एसडीजी)

 अम्‍बाला - कालका (87क) (ब्‍यौरा देखें)

अम्‍बाला - कहनलमपुर (ब्‍यौरा देखें)

आद्रा - मिदनापुर (ब्‍यौरा देखें)

शिरहिंद - नांगल डैम - उना (87ख) (ब्‍यौरा देखें)

सिमहादरी ताप ऊर्जा परियोजना साइडिंग

मेट्रो कॉरिडोर (एसवाईएस2 तथा आरसी-7बी)

रेल विकास निगम लिमिटेड (आरवीएनएल) के लिए अलीगढ-गाजियाबाद खंड पर तीसरी लाइन के प्रावधान के लिए कर्षण उप-स्‍टेशनों, स्‍व‍िचिंग स्‍टेशनों, प्रसारण लाइनों आदि सहित 25 कि.वा. एसी कर्षण व सामान्‍य निर्माण कार्य। ।(ब्‍यौरा देखें)

लखनऊ-सुल्‍तानपुर-मुगलसराय-सुल्‍तानपुर-उतरतिया खंड के बीच 288 मार्ग किमी (558 टीकेएम) का रेल विद्युतीकरण। ।(ब्‍यौरा देखें)

मेट्रो अनुप्रयोगों के लिए ऊर्जा आपूर्ति संवितरण नेटवर्क/उपस्‍टेशन।

दिल्‍ली मेट्रो रेल निगम, नई दिल्‍ली के लिए संविदा एसवाईएस-3 के अंतर्गत 21 अदद 33 कि.वा. कंवेंशनल, 1 अदद 66 के.वी. जीआईएस प्रकार, 4 अदद 25 के.वी. जीआईएस प्रकार तथा 3 अदद 25 कि.वा. कन्‍वेंशनल उपस्‍टेशनों/स्‍विचिंग स्‍टेशनों सहित दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय से केन्‍द्रीय सचिवालय तक भूमिगत मेट्रो कॉरिडोर। (ब्‍यौरा देखें)

दिल्‍ली मेट्रो रेल निगम, नई दिल्‍ली के लिए संविदा आरसी - 7बी के अंतर्गत 09 अदद 33 कि.वा. तथा 66 कि.वा. उपस्‍टेशनों सहित त्री-नगर-रिठाला रेल कॉरिडोर (वाया-डक्‍ट पर एलिवेटिड खंड)।     (ब्‍यौरा देखें)

कोलकाता मेट्रो के लिए 06 डीसी कर्षण तथा अनुषंगी उप-स्‍टेशन।     (ब्‍यौरा देखें)

दिल्‍ली मेट्रो रेल निगम के चरण-।। के लिए संविदा बीई-8 के अंतर्गत 220 कि.वा. (01), 132 किवा (01), 66 किवा (03) परम्‍परागत एआईएस उपस्‍टेशनों तथा 66 कि.वा. जीआईएस उपस्‍टेशन सहित 06 विद्युत उपस्‍टेशन।     (ब्‍यौरा देखें)

उपस्‍टेशन परियोजनाएं।     (ब्‍यौरा देखें)

किशनपुर (जम्‍मू और कश्‍मीर), अबदुल्‍लापुर (हरियाणा), मलिरकोटला (पंजाब), मापुसा (गोवा), वगूरा (जम्‍मू और कश्‍मीर), ग्‍वालियर (मध्‍य प्रदेश), लुधियाना (पंजाब) तथा जालंधर (पंजाब)। .    (ब्‍यौरा देखें)

जीआरआईडीसीओ, ओडीशा के लिए 220 कि.वा. तक की वोल्‍टता श्रेणी के एचटी ग्रिड उप-स्‍टेशनों (4 नए और 19 विस्‍तार उपस्‍टेशनों) के लिए विश्‍व बैंक वित्‍तपोषित टर्नकी संविदा।

उत्‍तरी रेल की यूएसबीआरएन नई बीजी रेल संपर्क परियोजना के काजीगुंड-बनिहाल खंड में 33/11 कि.वा और 11/0.4 कि.वा जीआईएस उपस्‍टेशनों, सुरंग संवातन तथा सुरक्षा, ई एंड एम संस्‍थापन, ऊर्जा आपूर्ति व्‍यवस्‍थाएं, 33 कि.वा और 11 कि.वा लाइनों, एचटी/एलटी क्रॉसिंग, क्‍वार्टरों और सर्विस भवनों आदि का आंतरिक तथा बाहरी विद्युतीकरण। (विद्युतीय कार्य)

उत्‍तरी रेल की यूएसबीआरएन नई बीजी रेल संपर्क परियोजना के काजीगुंड-बनिहाल खंड में 15 रेलवे स्‍टेशनों, आवासीय क्‍वार्टरों, बैरिकों के लिए 33 कि.वा. तथा 11 कि.वा. जीआईएस उपस्‍टेशनों, एचटी/एलटी क्रॉसिंग। (विद्युतीय कार्य)

जेल्‍डम से कन्‍कोलिम तक संबद्ध 220 किवा डी/सी संपर्क लाइन सहित कन्‍कोलिम में 220/33 किवा, 3x50 एमवीए उपस्‍टेशन के अभिकल्‍प, इंजीनियरिंग, आपूर्ति, संस्‍थापन, परीक्षण और प्रचालन आरंभ कार्य।

ऊर्जा आपूर्ति प्रसारण और संवितरण/आरएपीडीआरपी परियोजनाएं:

एनटीपीसी के जबलपुर से जयसिंह नगर (65 किमी) के 400 कि.वा (दोहरे सर्किट) की वोल्‍टता श्रेणी की प्रसारण लाइनें।

भारतीय पावर ग्रिड निगम लि‍मिटेड के लिए टर्नकी आधार पर पणजी शहर में शिरोपरि से भूमिगत हेतु विद्युतीय संवितरण प्रणाली का परिवर्तन।

जम्‍मू और कश्‍मीर रेल परियोजना के लिए 400 कि.वा, 220 कि.वा तथा 33 कि.वा प्रसारण लाइन क्रॉसिंगों सहित ऊर्जा प्रसारण व संवितरण कार्य।

जम्‍मू और कश्‍मीर रेल परियोजना के लिए 400 कि.वा, 220 कि.वा तथा 33 कि.वा प्रसारण लाइन क्रॉसिंगों सहित ऊर्जा प्रसारण व संवितरण कार्य।

भारत सरकार के त्‍वरित ऊर्जा विकास और पुनर्वासन कार्यक्रम के अंतर्गत केरल के कोच्‍ची नगर के लिए ऊर्जा आपूर्ति संवितरण कार्य।

अन्‍य परियोजनाएं

रिफाइनरियों, पेट्रो-कैमिकल परिसरों, बड़े औद्योगिक परिसरों, अस्‍पतालों, कपूरथला में रेल डिब्‍बा कारखाना आदि के लिए औद्योगिक विद्युतीकरण।     (ब्‍यौरा देखें)

नवी मुंबई में वाशी और बेलापुर में सीआईडीसीओ के लिए एकीकृत कम्‍प्‍यूटरीकृत भवन प्रबंधन प्रणाली। .

रेल विकास निगम लिमिटेड (आरवीएनएल) के लिए अनुषंगी कार्यों सहित रेवाड़ी-फुलेरा-अजमेर खंड के आमान परिवर्तन के लिए प्रसारण लाइन क्रॉसिंगों सहित सामान्‍य विद्युतीकरण कार्य।

उत्‍तर प्रदेश, भारत में सीएओ/आरसीएफ/आरबीएल, लालगंज, रायबरेली के लिए प्रति वर्ष 1000 कोचों की उत्‍पादन क्षमता सहित रायबरेली में रेल डिब्‍बा कारखाने की स्‍थापना के संबंध में विद्युतीय कार्य जिसमें शामिल हैं - संबंधित कार्यों सहित 132/11 कि.वा मुख्‍य रिसीविंग उपस्‍टेशन, 11/0.4 कि.वा अनुषंगी उपस्‍टेशन वाली ऊर्जा आपूर्ति संवितरण प्रणाली, 750 कि.वा एए11/0.433 किवा कॉम्‍पैक्‍ट उपस्‍टेशन, 11 कि.वा तथा 0.4 कि.वा भूमिगत केबलिंग, कारखाना विद्युतीकरण, 2 मे.वा. क्षमता के ग्रिड संपर्कित सौर ऊर्जा संयंत्र, अत्‍याधुनिक प्रकाश पाइप फिटिंग, सौर स्‍ट्रीट लाइट, हाई मास्‍ट टावर, ऊर्जा कुशल इंडक्‍शन लैंप प्रकाशन आदि।

चालू परियोजनाओं की प्रमुख विशेषताएं

मथुरा-कासगंज-कल्‍याणपुर के लिए रेल विद्युतीकरण कार्य (एनईआर)(338 आरकेएम)।

कटनी-सिंगरौली के लिए रेल विद्युतीकरण कार्य (डब्‍ल्‍यूसीआर)(260 आरकेएम/373टीकेएम)।

यूएसबीआरएल परियोजना के अंतर्गत काजीगुंड-बारामुला खंड(148 टीकेएम) तथा 132 कि.वा प्रसारण लाइन के 20 किमी के लिए रेल विद्युतीकरण कार्य।

यूएसबीआरएल परियोजना के अंतर्गत काजीगुंड-बारामुला खंड(148 टीकेएम) तथा 132 कि.वा प्रसारण लाइन के 20 किमी के लिए रेल विद्युतीकरण कार्य।

पश्चिम मध्‍य रेलवे के कटनी-सिंगरौली खंड के रेल विद्युतीकरण सहित दोहरीकरण (261 आरकेएम)।

मध्‍यपूर्व रेलवे के कियूल-गया खंड के रेल विद्युतीकरण सहित दोहरीकरण (124 आरकेएम)।

मध्‍यपूर्व रेलवे के आरडीयूएल-टीएएल-आरजेओ खंड के रेल विद्युतीकरण सहित दोहरीकरण (14 आरकेएम)।

एसईसीआर पर छत्‍तीसगढ पूर्वी रेल गलियारे (सीईआरएल) में खरसिया-धरमजयगढ खंड के बीच नई बीजी विद्युतीकृत रेल लाइन के निर्माण के संबंध में रेल विद्युतीकरण कार्य। (176 टीकेएम)।

एसईसीआर पर छत्‍तीसगढ पूर्वी रेल गलियारे (सीईआरएल) में गेवरा-पेंद्रा रोड खंड के बीच नई बीजी विद्युतीकृत रेल लाइन के निर्माण के संबंध में रेल विद्युतीकरण कार्य। (314 टीकेएम)।

मेट्रो अनुप्रयोगों के लिए ऊर्जा आपूर्ति संवितरण नेटवर्क/उपस्‍टेशन परियोजनाएं

दिल्‍ली एमआरटीसी परियोजना, चरण-।।। के लिए डीएमआरसी के सीई-6, लॉट-1 के अंतर्गत मौजूदा रिसीविंग उप-स्‍टेशनों के लिए ग्रिड उप-स्‍टेशन से उच्‍च वोल्‍टता केबल लगाने तथा संवर्धन कार्यों सहित रिसीविंग-सह-कर्षण तथा अनुषंगी मुख्‍य उप-स्‍टेशन के अभिकल्‍प, आपूर्ति, संस्‍थापन, परीक्षण और कार्य आरंभ।

ऊर्जा आपूर्ति प्रसारण तथा संवितरण/आरएपीडीआरपी परियोजनाएं

उत्‍तर प्रदेश राज्‍य के मेरठ शहर में ऊर्जा आपूर्ति संवितरण कार्य (आरएपीडीआरपी)

जम्‍मू और कश्‍मीर में जम्‍मू लेफ्ट, जम्‍मू राइट, अखनूर, रजोरी, पुंज, उद्यमपुर, डोडा, किश्‍तवार तथा भदेरवा में ऊर्जा आपूर्ति वितरण कार्य (आरएपीडीआरपी)।

अन्‍य परियोजनाएं

दौड/मध्‍य रेलवे तथा बोंडामुंडा/दक्षिण पूर्व रेलवे प्रत्‍येक स्‍थान पर 200 तीन फेस इंजनों की व्‍यवस्‍था के लिए नये इलैक्ट्रिक इंजन शेड की स्‍थापना।

यूएसबीआरएल परियोजना के बनिहाल से धरम खंड पर अरपिनफले तथा संभर रेलवे स्‍टेशनों के लिए आंतरिक और बाहरी विद्युतीकरण और ऊर्जा आपूर्ति, सुरंग टी74, टी49, टी50, टी48 की संवातन, सुरंग प्रकाशन प्रणाली और एससीएडीए, संगलधान से रियासी सुरंग टी15 तथा टी2 और पुल प्रकाशन व एचटी/एलटी लाइन का आशोधन।

पश्चिमी स‍मर्पित मालभाड़ा गलियारा परियोजना के पैकेज सीटीपी-12 (वैतरणी-सचिन खंड) से संबंधित रेलवे स्‍टेशनों के लिए कर्षण के अतिरिक्‍त गैर-कर्षण विद्युतीय कार्य सहित ऊर्जा आपूर्ति प्रणाली यथा सिग्‍नलिंग प्रणाली का प्रचालन, अनुषंगी ऊर्जा आपूर्ति, अनुरक्षण सुविधाएं, अन्‍य सर्विस भवन, रिमोटकंट्रोल मॉनीटरिंग और प्रचालन (एससीएडीए) प्रणाली (केवल अनुषंगी ऊर्जा आपूर्ति प्रणाली हेतु) और यार्डों के लिए प्रकाशन प्रणाली उपलब्‍ध कराना, आदि।

अगरतला (भारत) से अखुरा (बांग्‍लादेश भारतीय भाग) के लिए नए रेल संपर्क के संबंध में सामान्‍य विद्युतीय कार्य।

एनटीपीसी की सोलापुर सुपर-ताप ऊर्जा परियोजना के लिए कोयला पारवहन प्रणाली के निर्माण के लिए यार्ड प्रकाशन और सामान्‍य विद्युतीकरण कार्य।

शिवोक से रंगपो नई एकल लाइन बीजी रेलवे लाइन परियोजना के निर्माण के संबंध में सुरंगों के लिए विद्युतीय प्रणाली और सुरंग संवातन प्रणाली।

जयनगर (भारत) से बरदीबास (नेपाल) तक तथा जोगबनी बीरतनगर रेल परियोजनाओं की नई बीजी लाइन के संबंध में सामान्‍य विद्युतीय कार्य।

गुड़गांव तथा नोएडा में रियल इस्‍टेट विकास कार्य से संबंधित भवन विद्युतीकरण, एचवीएसी, भवन अनुरक्षण प्रणाली, लिफ्टें तथा अन्‍य सामान्‍य कार्य।

नगरनार, छत्‍तीसगढ राज्‍य में एनएमडीसी के लिए प्रस्‍तावित 3 एमटीपीए एकीकृत इस्‍पात संयंत्र के लिए निजी रेलवे साइडिंग के निर्माण संबंधी शिरोपरि विद्युतीकरण और सामान्‍य विद्युतीकरण कार्य।

छत्‍तीसगढ राज्‍य में रौघाट-जगदलपुर खंड के बीच नई गैर-विद्युतीकृत बीजी एकल रेलवे लाइन के विकास के संबंध में सामान्‍य विद्युत कार्य।

हमारे मूल्‍यवान ग्राहक

भारतीय रेल।

ऊर्जा विकास विभाग, जम्‍मू और कश्‍मीर।

दिल्‍ली मेट्रो रेल निगम, दिल्‍ली।

पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (पीजीसीआईएल), गुड़गांव।

गोवा विद्युत विभाग, गोवा।

कोलकाता मेट्रो, कोलकाता।

केरल राज्‍य विद्युत बोर्ड, त्रिवेन्‍द्रम।

पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (पीवीवीएनएल)।

-